108 एम्बुलैंस कर्मचारी भी कोरोना योद्या से काम नही,विपरीत परिस्थितियों में भी निभा रहे अपना फ़र्ज़

शहडोल।विदित हो कि कोरोना महामारी के इस लॉकडाउन में डॉक्टर,पुलिस,सफाई कर्मचारियों के अलावा एक कोरोना टीम ऐसी है जो इस महामारी काल मे भी सातो दिन चौबीस घंटे आम जनो की सेवा में लगातार लगे हुए है। वो है 108 एम्बुलेंस के कर्मचारी जो कि ज़िकितज़ा हैल्थ केअर के अधिनस्त कर्मचारी है ।इस कोरोना काल मे दिन रात मरीजो की सेवा में लगे है और ये अग्रिम पंक्ति में कार्यरत कर्मचारी है।
इन्ही एम्बुलेंस सर्विस का एहम हिस्सा है इनके अनुरक्षण ( मेन्टेन्स) एवं रख रखाव का जिसके लिए कंपनी के मेंटेनेंस विभाग के कर्मचारियों एवं अधिकारियों ने दिन रात एक कर दिए ।इस कोरोना कॉल में भी जब सभी जगह लॉकडौन था और सभी अपने घरों में थे ये कर्मचारी पूरे समय फील्ड पे कार्यरत रहे अपनी टीम के साथ, इसके अलावा एक शेड्यूल बना के दिन रात चलने वाली एम्बुलैंस में समय 2 पे प्री प्लानिंग के साथ जरूरी मेंटेनेंस वर्क कराया गया इसके लिए सभी वर्कशॉप मैनेजर्स से बात करके उनको खुलवाया गया जबकि सभी वर्कशॉप बंद थे इनको विश्वास में लेके ओर इनको ये बता के की इन एम्बुलेंस के कार्य कितने जरूरी है तथा शाशन से आदेश लेके इनको खुलवा के कार्य करवाये गए।जिले मे जिकितज़ा हेल्थ केयर के
जिला अधिकारी रजीव द्विवेदी मैंटेन्स अधिकारी कपिल शर्मा ने इस कार्य को बखुबी अंजाम दिया उनके प्री प्लानिंग शेड्यूल प्लान ओर वेंडर से समय-समय पे की गई मुलाकात के कारण ही जिले की सभी 15 एम्बुलेंस इस पूरे कोरोना कॉल में लगातार सेवा देती रही ओर अभी भी सेवा दे रही है।
इसके लिए एम ई कपिल शर्मा ने बताया कि कैसे उनके अपने जिला अस्पताल के सी एम ओ राजेश पाण्डेय सिविल सर्जन वी एस वारिया सीनियर मैनेजर मूर्ती सर् ओर अस्सिटेंसड मैनेजर मुदित मिश्रा अरिया मनेजर विवेक पाण्डेय ने समय 2 पर उनका मार्गदर्शन किया और 24*7 कार्य मे मदद की। इसके साथ ही एक अहम कड़ी और सहयोग प्रदान किया अधिनस्त पॉयलेट कर्मचारियों ने जिनने रात ओर दिन सेवा भाव से पूर्णतया खुद को मरीजो की सेवा में समर्पित किया एवं सहयोग किया।
हम सभी इन प्रथम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं को धन्यवाद प्रेसित करते है।